You are currently viewing Pancreatitis (अग्नाशय) को ठीक करने के घरेलू उपाय
Pancreatitis (अग्नाशय) को ठीक करने के घरेलू उपाय

Pancreatitis (अग्नाशय) को ठीक करने के घरेलू उपाय

पैंक्रियाज (अग्नाशय) हमारे पाचन तंत्र का प्रमुख अंग होता है, जिसका  हेल्दी होना  बहुत जरूरी है, हैपैनक्रियाज रीढ़ के हड्डी के सामने और पेट में काफी गहराई में होता है, यही कारण है कि कई बार पैनक्रियाज के  कैंसर का पता ही नहीं चलता  है और काफी देर बाद इसका पता चलता है। इस बीमारी के  लक्षण अन्य बीमारियों से मिलते जुलते होते हैं, जिससे इस बारे में पता लगाना भीत मुश्किल होता है। इस बीमारी से बचने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है – 

  1. ब्रोकली के सेवन से – पेनक्रियाज कि बीमारी को ठीक करने के लिए हमें ब्रोकली का सेवन करना चाहिए, क्योंकि  ब्रोकली के अंकुरों में  फायटोकेमिकल भपुर मात्रा में होता है जो कि कैंसर युक्‍त सेल्‍स से लड़ने में मदद करते हैं और साथ ही ये एक एंटीऑक्सीडेंट का काम करते हैं जो रक्त के शुद्धिकरण करने में भी मदद करते हैं।
  2. जिन्सेंग के इस्तेमाल से – जिन्सेंग एक ऐसी  जड़ी बूटी है जो शरीर में रोग – प्रतिरोधक शक्ति का निर्माण करती है। ये इम्यून सिस्टम को मजबूत करने में मदद करती है और इस के इस्तेमाल से पै‍नक्रियाज को काफी हद तक ठीक किया जा सकता है।
  3. गेहूं का ज्‍वारा (व्हीटग्रास) के सेवन से – पै‍नक्रियाज की बीमारी को  ठीक करने के लिए व्हीटग्रास (wheatgrass) का सेवन करना काफी लाभकारी होता है। इसके सेवन से  कैंसर युक्त सेल्‍स को कम करने में भी मदद मिलती  हैं और शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती  है और ये  शरीर से हानिकारक तत्वों को बाहर निकालने में भी  मदद करता है।
  4. ग्रीन टी के सेवन से – पै‍नक्रियाज में होने वाली समस्‍या को  दूर करने के लिए नियमित रूप से प्रतिदिन ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए, क्‍योंकि ग्रीन टी के सेवन से रोग-प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है  और साथ ही ये शरीर को डिटॉक्स करने में भी मदद करते हैं।
  5. एलोवेरा के सेवन से – एलोवेरा के सेवन से बहुत से रोगों को दूर करने में मदद मिलती है, लेकिन पैनक्रियाज में इंफेक्‍शन में इसका सेवन करने से बहुत आराम मिलता है। इसलिए नियमित रूप से ताजा एलोवेरा जैल का सेवन करना चाहिए इससे से लाभ मिलता है।
  6. सोयाबीन के सेवन से – सोयाबीन के सेवन से  पैनक्रियाज की समस्या को दूर करने में मदद मिलती है। इसमें कुछ ऐसे  एंजाइम होते हैं जो हर तरह के कैंसर को रोकने में मदद करते हैं। इसलिए रोजाना अंकुरित सोयाबीन या पकाए हुए सोयाबीन का सेवन करने से पैनक्रियाज के रोगों से बचा जा सकता है। 
  7. लहसुन के सेवन से – लहसुन के सेवन से भी इस बीमारी को दूर किया जा सकता है, इसमें  ऐसे औषधीय गुण होते हैं, जो कई प्रकार के रोगों को दूर करने में मदद करते है। इसमें  एंटीऑक्सीडेंट और एलीसिन, सेलेनियम, विटामिन सी, विटामिन बी आदि भरपूर मात्रा में होते है। इसलिए इसके सेवन से  पैनक्रियाज में होने वाले इंफेक्‍शन और कैंसर से बचने में मदद  करता है और कैंसर हो जाने पर उन्हें बढ़ने से रोकने में भी मदद करता है।
  8. हरड़ के सेवन से – हरड़ का सेवन करने से  भी पैनक्रियाज में इंफेक्‍शन और कैंसर को काफी हद ठीक किया जा सकता है, इसके  चूर्ण का सेवन करने से शरीर को डिटॉक्स करने और पाचन तंत्र को हेल्दी रखने में मदद करता  है। 
  9. अंगूर के सेवन से – अंगूर के सेवन से भी इस बीमारी को दूर किया जा सकता है, अंगूर में पोरंथोसाईंनिडींस भरपूर मात्रा में पाया जाता है, जिससे एस्ट्रोजेन के निर्माण में कमी होती है और जिससे फेफड़ों के कैंसर के साथ पैनक्रियाज के कैंसर की समस्या को दूर करने मर मदद मिलती  है और  साथ ही इसके सेवन से  टिशूज और सेल्स को भी हेल्दी रखने  में मदद मिलती है।
  10. अमरुद और तरबूज के सेवन से – अमरुद, तरबूज, एप्रिकॉट जैसे फलों में लाइकोपीन अधिक मात्रा में  होती है। इसलिए  इन फलों के  सेवन करने से  पैनक्रियाज रोग को ठीक होने में सहायता मिलती है और  साथ ही इन ताजे फलों और सब्जियों का जूस या सुप पीने  से भी पै‍नक्रियाज में होने वाली परेशानियों को दूर करने में  मदद मिलती है।

तो हम कह सकते है कि पैनक्रियाज की समस्या को इन घरेलू उपायों की मदद से दूर कर सकते है। इसके अलावा हमें नियमित रूप से संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए और हमें जंक फ़ूड का सेवन नहीं करना चाहिए, इसके अलावा हमें खाना खाते समय पानी नहीं पीना चाहिए और न ही बातें करनी चाहिए ,और अपना खाना चबा चबा कर खाना चाहिए।

Leave a Reply