You are currently viewing Goitre (घेंघा)को ठीक करने के घरेलू उपाय

Goitre (घेंघा)को ठीक करने के घरेलू उपाय

आजकल की अनियमित खान -पान के कारण हमें कई समस्यायों का सामना करना पड़ जाता है। Goitre की समस्या आयोडीन कि कमी के कारण होती है। इस समस्या में गले के पास सूजन हो जाती है जिसके कारण गला बैठ जाता है ,खाने -पीने में मुश्किल होती है आदि। इसलिए हमें नियमित रूप से पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए। इस घेंघे कि समस्या को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है –

  1. अलसी के बीज का सेवन – इसके लिए अलसी के बीजों  में थोड़ा सा पानी डालकर उसे पीस कर पेस्ट बना लेना चाहिए और फिर इस पेस्ट को  गले में सूजन वाले हिस्से पर आधे घंटे के लिए लगा  रहने दें, फिर इसे  धो लें और उसे अच्छे से सुखा लें। इसके इतेमाल से  सूजन में कमी आती है। अलसी के बीज में एंटी इंफेल्मेट्री गुण होते हैंजो इस समस्या को दूर करने में मदद करते है। 
  2. गले की एक्सरसाइज करने से – घेंघा  होने पर गले से जुड़े कुछ खास व्यायाम करने चाहिए जिस से मांसपेशियों में खिंचाव होता है जो कि थायराइड ग्रंथि से जुड़ी होती हैं। व्यायाम करने से गले की सूजन से काफी आराम मिलता  है। 
  3. जौ के  पानी का सेवन – घेंघा रोग होने पर दिन में एक बार जौ का पानी पीना चाहिए। जौ में पोषक तत्व और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में होते हैं जो शरीर की इम्यूनिटी को बढ़ाने और रोगों से लड़ने में मदद मिलती  हैं।
  4. ठंडा शॉवर से – घेंघे की समस्या में दिन में दो बार ठंडे पानी से शॉवर लेना चाहिए , ये थायराइड ग्रंथि को स्वस्थ रखने में मदद करता हैं और सूजन को कम करने में भी मदद करता  है। 
  5. अननास का सेवन – अननास के सेवन से घेंघा रोग को दूर किया जा सकता है। अन्नानास में भरपूर मात्रा में  विटामिन और मिनरल  होते हैं। जो गलगंड में होने वाली सूजन को कम करने में मदद करता है। इसलिए हर रोज अननास का सेवन करना चाहिए। 
  6. लहसुन के सेवन से – लहसुन  में औषधीय तत्व होते  है,इसके सेवन कई रोगों से  लड़ने में मदद मिलती  है। लहसुन के सेवन से शरीर में ग्लूटोथाइन को बढ़ाने में मदद होती है  जो थायराइड को सही रखने में मदद करता है। इसलिए हर रोज सुबह तीन-चार लहसुन का सेवन करने से  गलगंड की समस्या को कम किया जा सकता है। 
  7. ग्रीन टी के सेवन से – ग्रीन टी में ऐसे  एंटीऑक्सीडेंट तत्व मौजूद होते हैं जो हमें स्वस्थ रखने में मदद करते  हैं। इसलिए हर रोज ग्रीन टी का सेवन करने से गलगंड की समस्या को दूर किया जा सकता  है। ग्रीन टी में प्राकृतिक फ्लूयोराइड होता है जोकि  थायराइड ग्रंथि को स्वस्थ रखने में मदद करता है। 
  8. नारियल तेल के इस्तेमाल से – नारियल तेल में लॉरिक एसिड भरपूर  मात्रा में होता है, इसका सेवन करने से  यह मोनोलॉरिन में बदल जाता है जिसमें एंटीवायरल, एंटीबैक्टेरीयल तत्व होते हैं। इसलिए अपने  खाने में नारियल तेल का प्रयोग करने से घेंघा की समस्या को दूर किया जा सकता हैं।
  9. सेब का सिरका का सेवन – इसके लिए एक गिलास गुनगुने पानी में सेब का सिरका और शहद मिलाकर पीने से घेघा रोग को दूर किया जा सकता हैं, इसका सेवन खाली पेट करने से बहुत लाभ होता है। इसके सेवन से सक्रंमण पैदा करने वाले बेक्टेरिअ को खत्म करने में मदद मिलती है। 
  10. अरंडी का तेल – इसके लिए अरंडी के तेल की कुछ बुँदे अपने हाथ पर लेकर अपनी गर्दन की मालिश करनी चाहिए, अरंडी के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण पाए जाते हैं जो घेंघे के कारण होने वाली सूजन कम करने में मदद करते है। 
  11. निम्बू जूस के सेवन से – इसके लिए निम्बू के रस में लहसुन का पेस्ट और शहद मिलाकर सेवन करने से घेंघा रोग को दूर किया जा सकता है। खाली पेट इसका सेवन करने से बहुत लाभ होता है। इसके सेवन से  सूजन को कम करने में मदद मिलती  है। निम्बू में  एंटी माइक्रोबियल गुण होते है  जो संक्रमण को फैलाने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करने में मदद  करते हैं।
  12. हल्दी और काली मिर्च के इस्तेमाल से – इसके लिए एक कप गर्म पानी में आधा कप हल्दी पाउडर डालकर गाढ़ा पेस्ट बनने तक पकाए, फिर उसमे आधा चमच काली मिर्च और नारियाल तेल मिलाकर घेंघा प्रभावित जगह लगाने से आराम मिलता है। 
  13. चुकंदर के सेवन से – चुकंदर  के सेवन से घेंघा की समस्या को दूर किया जा सकता है, इसके लिए चुकंदर के जूस या सलाद के रूप में खाया जा सकता है। 

चुकंदर में एंटी माइक्रोबियल गुण पाए जाते है जो  संक्रमण को बढ़ने से रोकता है और सूजन को दूर करने में मदद मिलती है। 

तो हम कह सकते है कि इन घरेलू उपायों की मदद से घेंघा रोग को दूर किया जा सकता है, इसके अलावा नियमित रूप से पौष्टिक आहार का सेवन करना चाहिए। 

Leave a Reply