You are currently viewing Bronchitis (स्वास नली में सूजन) की  समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय

Bronchitis (स्वास नली में सूजन) की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय

कई बार सांस नली में इन्फेक्शन के कारण सूजन हो जाती है जिसके कारण साँस लेने में दिक्क्त हो सकती है। ब्रोंकाइटिस एक ऐसा वायरल इन्फेक्शन है जिसमे रोगी के गले में खिचखिच या काँटों जैसी चुभन और दर्द और  थकान, नाक बहना या नाक में जमावट, बुखार, उल्टी या दस्त आदि की समस्या हो सकती है। 

ब्रोंकाइटिस की समस्या  में गले  में खराश या दर्द होने से खाना खाने, पानी पीने या थूक निगलने तक में तकलीफ हो सकती है, इस समस्या को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है –

  1. सौंठ, कालीमिर्च और हल्दी के सेवन से –  ब्रोंकाइटिस की समस्या में सौंठ, हल्दी व कालीमिर्च इन तीनों को समान मात्रा में लेकर इसे अच्छी तरह पीसकर चूर्ण बना लेना चाहिए, फिर प्रतिदिन दो ग्राम चूर्ण का गर्म पानी के साथ सेवन करना चाहिए।  इससे ब्रोंकाइटिस कि समस्या  में लाभ मिलता है, इसके सेवन से  असमय आने वाली खाँसी व कफ की शिकायत भी कम होती है। 
  2. शहद के सेवन से – इसके लिए  गुनगुने पानी में नींबू का रस व शहद मिलाकर पीने से ब्रोंकाइटिस में बहुत लाभ होता है, इससे ये रोग जल्दी  ठीक होता हैं। इसके अलावा  चाय में चीनी के बदले शहद मिलाकर भी पीना चाहिए और  बच्चों को दूध के साथ शहद मिलाकर पिलाना चाहिए  इसके सेवन  रोगप्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है। 
  3. आंवला व मुलेठी के सेवन से –  ब्रोंकाइटिस कि समस्या में सूखे आंवला का चूर्ण और  मुलेठी का चूर्ण समान मात्रा में मिलाकर रख लेना चाहिए, फिर एक-एक चम्मच सुबह-शाम गर्म पानी के साथ सेवन करने से कफ और खांसी से आराम मिलता है।
  4. अदरक व शहद के सेवन से – इसके लिए  एक चम्मच अदरक का रस व एक चम्मच शहद मिलाकर चाटना चाहिए, इसके सेवन से  ब्रोंकाइटिस में होने वाले खाँसी में लाभ मिलता है, इसके अलावा  गुनगुने पानी या ग्रीन टी में भी अदरक डालकर पिया जा सकता है इसके सेवन से इस समस्या को दूर करने में मदद मिलती है। 
  5. प्याज, शहद व नींबू के सेवन से – इसके लिए  प्याज के रस में समान मात्रा में शहद मिलाकर इसे दिन में 4-5 बार चाटना चाहिए, साथ ही प्याज को पीसकर  तेज साँस लेते हुये सूंघने से ब्रोंकाइटिस में जल्दी आराम मिलता है।  ब्रोंकाइटिस में यदि साँस लेने में कठिनाई हो तो प्याज के टुकड़े में नीबू का रस निचोड़कर खाने से तुरंत लाभ मिलता है और इस समस्या को दूर  करने में मदद करता है। 
  6. हल्दी, सरसों तेल व लहसुन के सेवन से – इसके लिए थोड़ी सी हल्दी को पीसकर उसमें लहसुन की कुछ कलियाँ मिलाकर सरसों तेल में पकाना चाहिए , जब हल्दी और लहसुन जल जाये तो तेल को आग से उतारकर छान लेना चाहिए, फिर इसके हल्का गर्म होने पर इस तेल से रोगी की  छाती, पसली और कमर पर मालिश करना चाहिए, इसके इस्तेमाल से ब्रोंकाइटिस की समस्या कम होती है और इससे  खाँसी में भी  आराम मिलता है। 
  7. यूकेलिप्टस का तेल (Eucalyptus Oil) के इस्तेमाल से – इसके लिए  गर्म पानी में यूकेलिप्टस का तेल मिलाकर भाप लेने से ब्रोंकाइटिस में काफी आराम मिलता है, इसके इस्तेमाल से गले की सूजन व खराश कम होती है और ये इस समस्या को ठीक करने में मदद करता है। 
  8.  गरारा (Gargles) करने से – गले  में खराश होने पर गर्म पानी में थोड़ा सा नमक डालकर गरारा करना चाहिए, ऐसा करने से गला में इन्फेक्शन की  वजह से आई सूजन को कम किया जा सकता है और ये खांसी से आराम दिलाता है।  इसलिए इस समस्या को दूर करने के लिए और जल्दी  राहत पाने के लिए हर तीन घंटा पर गरारा करना चाहिए। 
  9. तुलसी, काली मिर्च व अदरक के सेवन से – तुलसी, काली मिर्च, अदरक के सेवन से भी ब्रोंकाइटिस की समस्या को दूर किया जा सकता है, इसके लिए  तुलसी, कालीमिर्च और अदरक को  मिलाकर  काढ़ा बनाकर या  चाय बनाकर पीनी  चाहिए, इसके सेवन से  ब्रोंकाइटिस की समस्या के प्रारंभिक अवस्था में काफी लाभ पहुंचाता है। 
  10. ताज़े फल और सब्जियों का सेवन – ब्रोंकाइटिस की समस्या में ताज़े फल और सब्जियों का सेवन करना चाहिए। गाजर , कद्दू के बीज का भी सेवन किया जा सकता है, मछली का सेवन भी किया जा सकता है। कड़ी- पत्ता, लाल मिर्च के सेवन से दर्द, सूजन  और बुखार को दूर किया जा सकता है। इससे गले की खराश सेआराम मिलता है व साँस लेने में आसानी होती  है। इसलिए अधिक मात्रा में  विटामिन सी युक्त खाद्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए, विटामिन सी के सेवन से  वायरस से लड़ने में मदद मिलती है। 

तो हम  सकते है कि इन घरेलू उपायों की मदद से हम ब्रोंकाइटिस कि समस्या को दूर कर सकते है, इन उपायों के अलावा  हमें अपने रहन -सहन और खान-पान पर भी ध्यान देना चाहिए। हमें नियमित रूप से व्यायाम, योग और नियमित आहार का सेवन करना चाहिए। 

Leave a Reply