You are currently viewing मोरिंगा के पत्तों के स्वास्थ्य लाभ
मोरिंगा के पत्तों के स्वास्थ्य लाभ

मोरिंगा के पत्तों के स्वास्थ्य लाभ

मोरिंगा, जिसे सहजन और सहिजन (Drumstick and Horseradish) भी कहा जाता है, एक Tropical Tree  है मोरिंगा का पौधा पत्तागोभी और ब्रोकली के जैसे ही पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं। मोरिंगा के पौधे की पत्तियों को औषधि के रूप में इस्तेमाल किया जाता है। मोरिंगा की पत्तियां प्रोटीन का बहुत अच्छा स्रोत हैं और इसमें सभी महत्वपूर्ण अमीनो एसिड भी होते हैं। पत्ते मुख्य रूप से कैल्शियम, पोटेशियम, फॉस्फोरस, आयरन और Vitamins A, D, C भरपूर मात्रा में होते हैं। मोरिंगे के पत्तों का सेवन हमारे स्वस्थ के लिए उपयोगी है, इसके फायदे  इस  प्रकार  है –  

  1. ऊर्जा बढ़ाता है – मोरिंगा की पत्तियां शरीर के Energy स्तर को बढ़ाने में मदद करती हैं, जिससे थकान और थकान से राहत मिलती है। मोरिंगा के पत्ते आयरन से भरपूर होते हैं जो कमजोरी को कम करने में मदद करते हैं, इन पत्तों में विटामिन ए भरपूर मात्रा में होता है जो आयरन की कमी को दूर करता है, इसलिए नियमित रूप से मोरिंगा के पत्तों का सेवन करना चाहिए, ये हमारे स्वस्थ के लिए उपयोगी है।   
  2. शुगर को कंट्रोल करता है – मोरिंगा के पत्तों में  फाइटोकेमिकल्स होते हैं जो शुगर लेवल के स्तर को कम कर सकते हैं। यह कोलेस्ट्रॉल, Lipid के स्तर को भी कम करता है । मोरिंगा के पत्तों में एंटीऑक्सिडेंट तत्वों के कारण कोशिका क्षति से बचाती है। 
  3. दिमाग के लिए उपयोगी – मोरिंगा में एंटीऑक्सिडेंट की भरपूर मात्रा होने के कारण ये हमारे दिमागी स्वास्थ्य में सुधार करती है। मोरिंगा  पत्ते के सेवन से हमारा पाचन तंत्र भी स्वस्थ रहता है और ये हमे कई प्रकार की बिमारियों से लड़ने में मदद करती है जैसेकि अल्जाइमर रोग, मनोभ्रंश और मानसिक रोग या अन्य दिमागी समस्याओं को कम करने में मदद करते है। इसमें  विटामिन सी और इ भरपूर मात्रा होते हैं, जिससे मस्तिष्क के सम्पूर्ण स्वास्थ्य और कार्य को बढ़ाता है।
  4. दिल की रक्षा करता है – मोरिंगा के पत्ते दिल की रक्षा करते हैं वे खराब कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करते हैं, जो Blood सर्कुलेशन को सही रखने में मदद करता है और इसके सेवन से दिल का दौरा पड़ने जैसी समस्या को दूर किया जा सकता है। ये पत्ते रक्त वाहिकाओं की भी रक्षा करते हैं, इसलिए नियमित रूप से इसका सेवन करना चाहिए। 
  5. संक्रमण से लड़ता है – मोरिंगा के पत्ते रोगाणुरोधी से भरपूर होते हैं इस प्रकार Skin संक्रमण, Urine के संक्रमण से लड़ने में मदद करता है. इसके शक्तिशाली रोगाणुरोधी गुणों के कारण इसका उपयोग चोटों और घावों के उपचार में किया जाता है। मोरिंगा के पत्तों में Blood Clot  जमाने के गुण होते हैं, जो चोट लगने पर बहने वाले खून को जमाने और घाव के संक्रमण को रोकने में मदद करता हैं।
  6. इम्यून सिस्टम को बूस्ट करता है – इसके सेवन से हमारी Immunity मजबूत होती है। मोरिंगा की पत्तियां मजबूत प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले फाइटोन्यूट्रिएंट्स से भरी हुई हैं जो प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करती हैं, इसमें विटामिन ए, सी भी होता है जो हमारे स्वस्थ के लिए बहुत ही उपयोगी है। 
  7. स्वस्थ आंखें के लिए – मोरिंगा की पत्तियां विटामिन ए से भरपूर होती हैं जो स्वस्थ आंखों के लिए आवश्यक होता है इसके सेवन से आँखों की रौशनी बढ़ती है।
  8. मजबूत हड्डियों के लिए – हमारे स्वास्थ्य के लिए मजबूत और स्वस्थ हड्डियां होना आवश्यक हैं। अगर आपको हड्डियों में दर्द है तो मोरिंगा के पत्तों का नियमित सेवन करना चाहिए, इनके पत्तों के सेवन से हमारी हड्डियां मजबूत होती है और दर्द भी कम होता है, क्योंकि मोरिंगा के पत्तों में कैल्शियम, विटामिन K भरपूर मात्रा में होते हैं। 
  9. Liver की रक्षा करता है – ये हमारे स्वस्थ के लिए बहुत ही उपयोगी है, मोरिंगा की पत्तियों में पॉलीफेनोल्स की उच्च मात्रा होती है जो Liveको किसी भी प्रकार के नुकसान से बचाती है। ये पत्तियां लीवर में ऑक्सीडेटिव Harm  को उलट सकती हैं और इसमें प्रोटीन के स्तर को बढ़ा सकती हैं। मोरिंगा की पत्तियां लीवर Fibrosis  को भी कम कर सकती हैं

मोरिंगा के पत्तों का उपयोग कैसे करें –  

  1. मोरिंगा के पत्तों का तीन तरह से उपयोग कर सकते हैं जैसेकि इसकी हरी कच्ची पत्तियां के रूप मे, इसके पाउडर के रूप में, और इसके जूस के रूप में प्रयोग किया जा सकता है। 
  2. मोरिंगा पाउडर बनाने के लिए –  इसका पाउडर बनाने के लिए मोरिंगा की ताजी पत्तियों को छाया में सुखाया जाता है। उन्हें सीधे धूप में न सुखाएं बल्कि छाया में सुखना चाहिए क्योंकि यह मोरिंगा के पत्तों के पोषण तत्वों को कम नहीं होने देगा। इसके सूखने के बाद इन्हें बारीक पीसकर पाउडर बना लेंना चाहिए ।
  3. मोरिंगा का रस – मोरिंगा की ताजी पत्तियों को पीसकर इसका रस निकाला जाता है और फिर इसका रस उपयोग प्रयोग किया जाता है।  इसे घर पर तैयार कर सकते है या फिर मार्किट से भी ले सकते है। 

मोरिंगा पत्तियों का उपयोग करने के लिए 

  1. इसे पानी में घोलकर इसका सेवन किया जा सकता है। 
  2. चाय में डालकर इसका इस्तेमाल किया जा सकता है। 
  3. इसे शेक और स्मूदी में मिलाकर भी पिया जा सकता है। 
  4. इसे अपने सूप में छिड़क कर भी सेवन कर सकते है। 
  5. सलाद टॉपिंग के रूप में भी प्रयोग कर सकते है। 
  6. आलू की या कोई भी प्रोंठी (रोटी) बनाते समय इसके पत्ते डालकर बना सकते है। 

तो हम कह सकते है कि मोरिंगा के पत्ते हमारे स्वस्थ के लिए बहुत ही उपयोगी है इसके सेवन से हमें कई प्रकार की बिमारियों से लड़ने की शक्ति मिलती है और इसके सेवन से केलस्ट्रोल लेवल भी सही रहता है और ये हमारे हार्ट और दिमाग और आँखों के लिए बहुत ही लाभदायक है। इसलिए हमें नियमित रूप से इसका सेवन करना चाहिए। 

Leave a Reply