You are currently viewing डिप्रेशन जैसी बीमारी को घर बैठे करें ठीक

डिप्रेशन जैसी बीमारी को घर बैठे करें ठीक

डिप्रेशन जैसी बीमारी को घर बैठे करें ठीक

डिप्रेशन एक ऐसी गंभीर मनोभाव होता है जो की 19 मिलियन अमेरिकियों को हर साल खोखला बनता है| यह एक ऐसा एहसास है जो की इंसान के रोज़ की जीवनी पर सबसे ज़्यादा असर करता है, इंसान का मूड ठीक नहीं रखता| डिप्रेशन ज़िंदगी के हर हिस्सा असर करता है|

डिप्रेशन को पहचानने के काफी सारे तरीके हैं जिसमें से नींद डिस्टर्ब होना, आतम हत्या के ख्याल आना, ज़्यादा खाना खाना, किसी भी चीज़ में रूचि न लेना, निराशा रहना, हर समय गुस्सा करना और हमेशा उदास रहना|

यह अव्यवस्था ज़िंदगी में उदासी लाती है| डिप्रेशन काफी तरह का होता है जो की अलग अलग अवस्था के मुताबिक होता है, जिसमें से सायकोटिक डिप्रेशन, पोस्टपार्टम डिप्रेशन और परसिस्टेंट डिप्रेशन होता है|

खाएं 5 ऐसे भोज जो बिना डॉक्टर के घर बैठे डिप्रेशन को करे ठीक

1. सैंट जॉन’स वोर्ट: सैंट जॉन’स वोर्ट एक बहुत ही मशहूर जारी बूटी है जो की डिप्रेशन को ठीक करने में बहुत बड़ी मदद करती है| यह जड़ी बूटी नार्थ अमेरिका, वेस्ट असीस और यूरोप से मिलती है| यूरोप में यह जारी बूटी FDA से अनुमानित नहीं है लेकिन लोग इसे फिर भी डिप्रेशन को ठीक करने में इस्तिमाल करते हैं| यह जड़ी बूटी डिप्रेशन को ठीक करने में एक जादू की तरह काम करती है और इसमें बहुत ही अच्छे रसायनिक पदार्थ मौजूद हैं जैसे की ह्यपरफोरिन और ह्यपेरिकीं जो की सेरोटोनिन रिसेप्टर्स की तरह काम करते हैं और सेरोटोनिन और ान्तिदेप्रेसेंट्स को रोकने मैं काम आता है|

2. इलायची: इलायची एक बहुत ही गज़ब सुगंधित मसाला है जो की शरीर को विषहरण करने में काम आता है, जिससे डिप्रेशन को ठीक करने में मदद करता है और मूड को भी ठीक करता है| इसके इलावा, इलायची क्योंकि खाने में बहुत ही अच्छी खुशबू छोड़ती है इसलिए इलायची की ‘मसलों की रानी’ खा गया है, इलायची परफ्यूम, माउथ फ्रेशनर, चर्बी को कम करने में और खाना पचाने में काम आती है| इलायची साउथ एशिया एंड भारत में दवाई बनाने की काम भी आती है जो की दिल की बीमारी, डायरिया, उल्टियां, डिप्रेशन और कई सारी बीमारियां ठीक करने मैं काम आती है|

3. नटमेग: नटमेग एक टॉनिक की तरह काम करता है जो की दिमाग को बहुत ही लाभ देता है और दिमाग को उत्तेजित करता है और तनाव को कम करने में मदद करता है और मूड को ठीक करने में भी मदद करता है| पढ़ाई की मुताबिक, नटमेग पेट में हो रहे दर्द को भी कम करता है और डायरिया को भी ठीक करता है, जिससे ब्लड प्रेशर भी कम होता है| नटमेग में फॉस्फोरस, आयरन, ज़िंक, मैग्नीशियम, मैंगनीज, कैल्शियम और कॉपर भरपूर मात्रा में होता है|

4. कुमकुम: कुमकुम एक बहुत ही महंगी जड़ी बूटी है जो की खाने में खुशबू ही नहीं बल्कि खाने में रोगनाशक गुण भी देता है| कुमकुम में विटामिन B और कैरोटेनॉयड्स भरपूर मात्रा में होता है जो की सेरोटोनिन मात्रा को कम करने में मदद करता है| कुमकुम की बायोएक्टिव पदार्थों में पिक्रोक्रोसिं, क्रोसेटिन, क्रोसिन और सफ़रनाल भी मौजूद होता है जो की सेहत के लिए बहुत ही लाभदायक है| कुमकुम डिप्रेशन, गैस की दिक्कत और दिल की रोग ठीक करने में मदद करता है|

5. काजू: काजू एक पोषक तत्व है जिसमें 46 % पॉलीअनसेचुरेटेड फैटी एसिड्स, मोनौंसतुरतेड़ फैटी एसिड्स और लिनोलेनिक एसिड्स मौजूद होते हैं| काजू में Vitamin C भरपूर मात्रा में मौजूद होता है जो की नर्वस सिस्टम को ठीक रखने में मदद करता है| काजू में राइबोफ्लेविन भी मौजूद होता है जो की शरीर में शक्ति लाने में मदद करता है| काजू में Vitamin B6, ट्रीप्टोफन और मैग्नीशियम डिप्रेशन को कम करने में मददगार होता है|

Leave a Reply