You are currently viewing चाणक्य

चाणक्य

हे बुद्धिमान लोगों ! अपना धन उन्ही को दो जो उसके योग्य हों और किसी को नहीं| बादलों के द्वारा लिया गया समुद्र का जल हमेशा मीठा होता है|

Leave a Reply