You are currently viewing चाणक्या

चाणक्या

वन की अग्नि चन्दन की लकड़ी को भी जला देती है अर्थात दुष्ट व्यक्ति किसी का भी अहित कर सकते है।

Leave a Reply