You are currently viewing क्यों है Negative Content Send और Receive बंद करना ज़रूरी?

क्यों है Negative Content Send और Receive बंद करना ज़रूरी?

दोस्तों आज के चलते दौर में आपको Positive लोग या फिर अपने आसा पास Positivity बहुत काम देखने को मिलेगी| तो आज हम बात करेंगे Negativity के बारे में और मिझे यह लगता है की आज की तर्रीख में Negativity पर बात करना बहुत बहुत ही ज़रूरी है|

मुझे जो लगता है जो मैं महसूस करती हूँ की कर कोई अपने अंदर गुस्सा और Negativity को भर कर घूम रहा है, आज की तरीक में हर कोई गुस्से में है, कोई किसी से प्यार से दो शब्द बोलने को राज़ी ही नहीं है| लोग हर जगह लड़ रहे हैं, रिश्ते टूट रहे हैं और किसी न किसी तरीके से religion को ले कर Politics को ले कर इतनी ज़्यादा Negativity फैला दी जा चुकी है की आपको क्या बताऊँ|

अगर किसी से गलती से गाड़ी पर एक छोटी सी खरोंच भी लग जाये तो उस बात को ले कर हम गुस्से से भर जाते हैं| तो मुझे जो लगा की इस वीडियो के ज़रिये शायद मैं वो बातें शेयर कर सकूँ जो मुझे महसूस होती हैं की ऐसा हम Indians क्या कुछ गलत कर रहे हैं की जिस से Negativity भरे हालत पैदा हो रहे हैं| और यह अपने India यानि की अपने देश में ही ऐसा क्यों हो रहा है|

कड़ी Research केर बाद जो Conclusion निकला है वो यह है की हम लोग बहुत ज़्यादा यानि की हद से भी ज़्यादा एक दूसरे को Visual Negative Content send कर रहे हैं और receive कर रहे हैं| Video से लेके Audio, Audio से ले के Memes, Cinema से ले के TV तक, TV से ले के Internet तक, हम सिर्फ और सिर्फ Negativity बेच रहे हैं|

तो चलिए शुरू करते हैं News Channels से, TV पर Journalists बिना किसी बात के चिल्ला रहे हैं, जिनमें वो बिना किसी सर पेअर के डिबेट्स रखते हैं और फिर जिनका कोई Conclusion या फिर Solution भी नहीं निकलता| सिर्फ और सिर्फ एक दूसरे पर चिल्ला रहे हैं लड़ रहे और बस कोई Productive काम पर focus करने का सोचता भी नहीं है|

और अगर हम बात करें Reality Shows की तो उनमें सिर्फ और सिर्फ Fights होती हैं, Plotting होती है, Abusing होती है बस| अगर हम बात करते हैं Regular TV Serials की, तो उनमें सिर्फ और सिर्फ Saas- Bahu या फिर भूत प्रेत की बातें होती हैं|

और अगर हम बात करें Internet की जिनमें से 10 में से 8 खबरें Negative होंगी, कोई किसी रे धर्म के परे में बात कर रहा है, कोई Politics के बारे में बात कर रहा है| और इनसब से सबसे खतरनाक जगह पर आ कर के सब पार्टिसिपेट करते हैं, वो Comment Section, Comment Section, गुस्से से भरी बातों से बुरी तरह भरा होता है, कोई कुछ बोलता है तो कोई कुछ, अगर कोई अपनी बात रखना चाहता है तो वो ठीक बात है लेकिन Negative तरीके से ही क्यों? न जाने इतनी Negativity क्यों है?

तो चलिए दोस्तों अब हम समझते हैं की हमारा mind Negative Content पर कैसे react करता है?

जो हम देखते हैं, सुनते हैं और महसूस करते हैं हम वैसे ही हो जाते हैं जिसका मतलब है अगर हम Daily basis पर negative content ही सेंड या receive करेंगे, या फिर Negative Content ही पड़ेंगे तो हम सिर्फ और सिर्फ Negative बातें ही सोचेंगे|

मैं आपको एक उदहारण ले कर समझने की कोशिश करती हूँ, जैसे की संजो हम कोई डरावनी फिल्म देखते हैं हम जानते हैं की यह सब scenes एक Fiction Story है एक setup है फिर भी फिल्म देखने के बाद हमारा दिल डरता है| हम उसी Zone में रहते हैं| जब हूँ कोई Sentimental Song सुनते हैं, तब हम emotional हो जाते हैं, बिलकुल ऐसा ही हमारे mind के साथ होता है, जितना ज़्यादा Negative Content हम देखेंगे हमारा mind धीरे धीरे नेगेटिव होता जाता है| तो यह बहुत ही ज़रूरी है की हमें Negative Content send या receive करना रोकना होगा|

हर किसी के Point of View को इज़्ज़त दें, भारत देश हमेशा Unity को represent करता है और हमने हर किसी के Point of View को respect दी है चाहे वो Religion हो या कुछ और| अगर कोई CAA को support करना चाहता है को करने दीजिये, अगर कोई CAA को support नहीं करना चाहता तो उसक इंसान के साथ ज़बरदस्ती न करें और अगर कोई particular सरकार को support करना चाहता है तो उन्हें करने दें| हम ज़बरदस्ती अपनी राय किसी और पर ज़बरदस्ती क्यों थोप रहे हैं वो भी Negativity से भरे

बहुत से ऐसे भारतीय कलाकार हैं जो सिर्फ और सिर्फ Negativity से दर कर अपने Point ऑफ़ Views नहीं शेयर करते| Negativity जल्द ही relationships , Policies और Rules को और यहाँ तक की पुरे के पुरे Nation को जला देगी| मैं आपसे गुज़ारिश करती हूँ की Negative Content को promote करना बंद करें और खुश रहे और दूसरों को भी खुश रहने दें|

Leave a Reply