You are currently viewing अगर गलती से बच्चे ने कुछ निगल लिया है तो क्या करना चाहिए
अगर गलती से बच्चे ने कुछ निगल लिया है तो क्या करना चाहिए

अगर गलती से बच्चे ने कुछ निगल लिया है तो क्या करना चाहिए

अक्सर छोटे बच्चे अपने मुंह में चीजों को डालकर उन्हें  जानने की कोशिश करते हैं और सीखते और पहचानने की कोशिश करते हैं क्योंकि उनके सेंसर उनकी जीभ और उंगलियां हैं, इसलिए जन्म के बाद, एक तीन वर्षीय बच्चा, कुछ ऐसा जो वह  उठा सकता है उसे अपने मुंह में डाल लेता है।

भले ही यह एक सामान्य समस्या है  लेकिन कई बार बच्चे  इन चीजों को मुंह में निगल लेते है । यदि पेट में जाकर पचाया जाता है, तो इससे कोई फर्क नहीं पड़ता लेकिन धातु, प्लास्टिक, कांच या अन्य ठोस वस्तुओं जैसे चट्टानों, सिक्के, बैटरी/नमक, बटन, तेज या तेज चीजें जैसे कि तेज या तेज चीजें, सुइयों, सेफपिन खोलने जैसी, लौह तार के टुकड़े, स्टेपलर पिन या कीड़े बच्चों के लिए हानिकारक हो सकते हैं। 

खतरनाक वस्तुओं को निगलने का असर

बच्चों पर नजर रखना असंभव है। अगर बच्चे ने इस तरह की चीजें निगल ली हैं, तो ये चीजें पेट हजम  नहीं होती हैं और यदि ऐसा होता है, तो बच्चे में यह लक्षण प्रकट होता है: उलटी आना, बोलने में दिक्क्त होना, साँस लेने में मुश्किल होना, ज्यादा लार आना, गला, छाती या पेट दर्द और घबराहट होना आदि। 

अगर बच्चा  सिक्का या पेन निगल जाए तो ये सुनिश्चित करें –

  1. बच्चे को खाने या पीने के लिए कुछ भी न दें और न ही बच्चे को उल्टी कराने की कोशिश करें।
  2. बच्चे को खाना पचाने वाला सीरप या दवाई न दें और न ही फाईबर युक्त (रेशेदार) खाना दें।
  3. नुकीली या धारदार वस्तु, बैटरी, दवा की गोली, सिक्का आदि जैसी खतरनाक चीज के निगलने पर बच्चे को जितनी जल्दी हो सके डाॅक्टर के पास ले जाएं।

अगर बच्चे ने  कुछ निगल लिया है तो तत्काल क्या करना चाहिए?

डॉक्टर एक्सरे कराने के लिए कह सकते हैं हालांकि एक्सरे से परिणाम तभी मिल सकता है अगर वो सामान पेट के अंदर फंस गया हो। गले में अगर कोई चीज फंसी है तो डॉक्टर टोमोग्राफी या अन्य किसी प्रकार के मेडिकल जांच कराने के लिए कह सकते हैं।

  1. अगर आपको पता चल गया है कि बच्चे ने गलती से  किसी सामान को निगल लिया है तो उसको पीने के लिए पानी अवश्य देना चाहिए। 
  2. अपने बच्चे को ब्रेड का टुकड़ा खाने के लिए दें। ब्रेड उस फंसे हुए सामान पर जाकर अटक सकता है। हमारे मुंह के अंदर बनने वाले लार की वजह से निगली हुई चीज को बाहर निकालने में मदद करता  है। 
  3. कई बार बच्चा निगलने के कुछ देर बाद से खांसी करना शुरू कर देता है तो ऐसी परिस्थिति में बच्चे की गर्दन को नीचे की तरफ लटकाते हुए उसको अपने जांघ पर लिटा दें। इसके बाद बच्चे की पीठ पर जोर जोर से थपथपाएं। ऐसा करने से भी गले में फंसा हुआ सामान बच्चे के मुंह से बाहर निकल सकता है।
  4. अगर  बच्चे के गले या मुंह में कोई सामान नजर आ रहा है तो अपने दो उंगलियों की मदद से उसको बाहर निकालने का प्रय़ास करें लेकिन इस बात का ध्यान  रखें कि बच्चे के असुविधा न हो और मुंह में आपका पूरा हाथ ना जाने पाए।
  5. अगर गले में फंसा हुआ सामान बाहर नहीं निकल पा रहा हो तो उसे तुरंत  नजदीकी अस्पताल में ले जाना चाहिए।

तो हम कह सकते है कि अपने बच्चे की सुरक्षा का सबसे अच्छा तरीका है कि घर में चीजों को इधर-उधर पड़ा न रहने दे और इसके लिए बेहद सतर्क रहें और बच्चे के कुछ भी गलत चीज के निगलने पर घर पर कोई जोर-आजमाइश करने के बजाए बच्चे को डाॅक्टर के पास ले जाना ही सबसे बेहतर विकल्प है। इसलिए सुनिश्चित करें कि छोटी-छोटी चीजें खासकर दवाईयां, धारदार, नुकीली और बैटरी या सैल अपने बच्चे की पहुंच से दूर रहें। अपने बच्चे को ऐसे खिलौनों से न खेलने दें जिसके छोटे-छोटे हिस्से हों क्योंकि बच्चा इन्हे निगल सकता है और यह भी सुनिश्चित करें कि बड़े बच्चे अपने खिलौने से छोटे बच्चों न खेलने दें।

Leave a Reply