You are currently viewing Nausea (उलटी या मिचली) को ठीक करने के घरेलू उपाय
Nausea (उलटी या मिचली ) को ठीक करने के घरेलू उपाय

Nausea (उलटी या मिचली) को ठीक करने के घरेलू उपाय

हमारे गलत खान-पान के कारण उलटी या मिचली की समस्या हो सकती है। कई बार ज्यादा खाना खा लेने के कारण, गैस बनने, या कई बार सफर करने से भी जी -मिचलाने लगता है। कई बार कुछ ऐसा खा लेते हो जो संक्रंमित होते उसे हमारा शरीर उलटी के रूप में बाहर निकाल देता है। मिचली की इस समस्या को दूर करने के लिए कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार  है –

  1. पुदीना का सेवन – पुदीना में कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो उल्टी को रोकने में मदद करते हैं। पुदीने का तेल के सेवन से भी उल्टी की समस्या को दूर किया जा सकता है। अगर बस या कार में सफर करने के दौरान जी मिचलाता हो और उल्टी आती हो तो कॉटन पर पुदीने के तेल की कुछ बूंदें डालकर उसे  समय-समय पर सूंघने से मिचली की समस्या दूर होती है, इसके इलावा पुदीने के पत्तों की चाय बना कर पीने से भी इस समस्या से छुटकारा मिलता  है। इस चाय में चाहें तो शहद मिला कर पी सकते हैं इससे आराम मिलता हैं।
  2. लौंग का सेवन – लौंग के सेवन से भी मिचली की समस्या को दूर किया जा सकता है इसके लिए जब भी  जी- मिचलाए तो मुंह में एक लौंग रख लेना चाहिए। इससे जल्दी आराम मिलेगाऔर जी मिचलाना बंद हो जाएगा। लौंग के सेवन से मुंह का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है।
  3. अदरक का सेवन – अदरक का सेवन करने से भी उल्टीकी समस्या दूर  होती है। इसके सेवन से चक्कर नहीं आते। अपनी  चाय में अदरक का टुकड़ा जरूर डालें और  ऐसी चाय पीने से जी-मिचलाने की समस्या दूर होती  है। इसके इलावा अदरक का टुकड़ा हमेशा अपने साथ रखें, जब भी जी- मिचलाने लगे तो उसे चूसें। उल्टी की समस्या नहीं  होगी।
  4. नींबू का सेवन – नींबू के  सेवन से  भी उल्टी की समस्या से बचा जा सकता है। निम्बू में मौजूद सिट्रिक एसिड जी- मिचलाने की समस्या को दूर करता है।इसके लिए एक गिलास गर्म पानी में एक नींबू निचोड़ कर और थोड़ा सा सेंधा  नमक मिला कर पीने से आराम मिलता है। अपने सफर के दौरान नींबू साथ रखना चाहिए , जब जी मिचलाने लगे तो नींबू को चूसें इससे  उल्टी नहीं होगी।इसके इलावा निम्बू के रस में थोड़ा सा काला नमक और काली मिर्च मिलाकर सेवन करने से भी आराम मिलता है। 
  5. इलायची का सेवन – जी मिचलाने की समस्या में इलायची के दाने मुंह में रखने से बहुत  फायदा होता है। इसे चबाने से मुंह का स्वास्थ्य भी ठीक रहता है। इसलिए हर रोज इलायची का सेवन करने से एसिडिटी  की समस्या भी नहीं होती। 
  6. जीरे का सेवन – कई बार गर्मी के कारण भी Nausea की समस्या हो जाती है, इसके लिए हमें छाछ में थोड़ा सा भुना हुआ जीरा और सेंधा नमक मिलाकर पीने से बहुत आराम मिलता है। 
  7. चीनी के सेवन से – इसके लिए निम्बू को काटकर उसपर चीनी लगाकर चूसने से भी मिचली की समस्या दूर होती है।
  8. तुलसी के सेवन से – इसके लिए तुलसी के रस में शहद मिलके सेवन करने से मिचली की समस्या दूर होती है। 
  9. हींग के इस्तेमाल से – इसके लिया हींग के पाउडर को पानी में घोल कर पेस्ट बनाकर इसे अपने पेट पर हल्के हांथों से मालिश करनी है, ऐसा करने से  मिचली की समस्या दूर होती है। इसके इलावा पुदीना और धनिये की चटनी के सेवन से भी बहुत आराम मिलता है। 
  10. जामुन और आम के पत्तों के सेवन से – जामुन और आम के कोमल पत्तों को पानी में उबालकर, उसे सरसों के  दानो के साथ पीसकर उसमे थोड़ा सा शहद मिलाकर सेवन करने से मिचली की समस्या दूर होती है। 
  11. चावल की मांड के सेवन से – इसके लिए चावल की मांड में तीन चमच बेलगिरी का रस मिलाकर सेवन करने से मिचली की समस्या दूर होती है। और संतरे के छिलके के पाउडर  में शहद मिलाकर चाटने से बहुत लाभ होता है।
  12. आंवला और मुंग के सेवन से – आंवला और मुंग को पानी में उबालकर उसे निचोड़ लें फिर उसे  मसल कर उसमे थोड़ा सा घी और सेंधा नमक मिलाकर पीने से मिचली की समस्या दूर होती है। 
  13. अनार का सेवन – इसके लिए अनार के रस में शहद मिलाकर सेवन करने से वात, पित्त, और कफ की बजह से होने वाली उलटी को दूर किया जा सकता है। 

तो हम कह सकते हैं कि इन घरेलू उपायों की मदद से हम मिचली या उलटी की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं, इसके इलावा हमे अपने  खान-पान पर विशेष  ध्यान देना चाहिए। हमें नियमित रूप से पौष्टिक आहार और ताज़े फलों और सब्जियों का सेवन करना चाहिए, हमें बाहर के खाने को भी अवॉयड करना चाहिए।

Leave a Reply