You are currently viewing Epilepsy (मिर्गी के दौरे) ठीक करने के घरेलू उपाय

Epilepsy (मिर्गी के दौरे) ठीक करने के घरेलू उपाय

मिर्गी कि बीमारी एक तंत्र से संबंधित  बीमारी है, इसमें व्यक्ति के हाथ-पैर अकड़ने लगते है और वे अपना दिमागी संतुलन खो बैठता है, और तो और व्यक्ति बेहोश भी हो सकता है। इस बीमारी का कारण सही दंग से खान-पान का न होना, सर में चोट लगना या दिमागी बुखार हो सकता है। इस बीमारी को ठीक करने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है –

  1. सफेद प्याज का सेवन – अगर किसी व्यक्ति को ये बीमारी है तो उसे एक चमच सफेद  प्याज का रस देने से आराम मिलता है। 
  2. शहतूत एवं अंगूर का रस – इसके लिए प्रतिदिन इसके जूस के सेवन से मिर्गी की बीमारी दूर होती है, इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व हॉट जो ठीक करने में मदद करते है। 
  3. तुलसी और सीताफल – अगर किसी व्यक्ति को मिर्गी का दौरा पढ़ा है तो उसे तुलसी के रस में थोड़ा सा सेंधा नमक मिलकर उसकी नाक में इसकी कुछ बूंदें डालने से आराम मिलता है। तुलसी रस की बजाय सीताफल के पत्तों के रस को भी इस्तेमाल किया जा सकता है। 
  4. करौंदे के पत्ते – इसके पत्तों के इस्तेमाल से मिर्गी की बीमारी को दूर किया जा सकता है, इसके लिए इसके पत्तों की चटनी बनाकर खाने से बहुत आराम  मिलता है। इसका सेवन रोज करने से जल्दी इस बीमारी से जल्दी आराम मिलता है। 
  5. पेठा या कद्दू – इसके सेवन से मिर्गी की बीमारी को दूर किया जा सकता है। इसमें बहुत से पोषक तत्व होते है जो हमारे तंत्र प्रणाली को दरुस्त रखने में मदद करता है। इसकी सब्जी बनाकर या जूस बनाकर पीने से बहुत आराम मिलता है।
  6. पौष्टिक  आहार का सेवन – मिर्गी की बीमारी को ठीक करने के लिए पौष्टिक आहार का सेवनकरना बहुत जरूरी है, हमें विटमिन और फायबर से युक्त खाने का सेवन करना चाहिए। 
  7. योग करने से – योग करने से हमारा शरीर तंदरुस्त और किर्याशील रहता है इससे गहरी सांस लेने में और दिमाग को आराम मिलता है और इससे मिर्गी की समस्या कमहोती है। 
  8. ओमेगा-3 का सेवन – ओमेगा -3 के सेवन से दिमाग का सरकोलेशन सही होता है और ये मिर्गी की बीमारी से ठीक होने में मदद करती है। 

तो हम कह सकते है कि इन घरेलू उपायों कि मदद से मिर्गी कि बीमारी को दूर किया जा सकते  है, इसके इलावा हमें अपने खान-पान पर भी ध्यान  देना चाहिए और नियमित रूप से योग और व्यायाम करना चाहिए।

Leave a Reply