You are currently viewing Diuresis की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय

Diuresis की समस्या को दूर करने के घरेलू उपाय

ये एक सामान्य बीमारी है, इस बीमारी में रोगी को बहुत  अधिक मात्रा में पेशाव आने लगता है, इस बीमारी  में रोगी को पेशाव जाने के बाद भी ऐसा लगता है कि उसे फिर से पेशाव आया है। इस बीमारी के कारण हमारे शरीर से अधिक मात्रा में लिक्विड बाहर निकल जाता है, जिसके कारण हमारे शरीर में पौष्टिक तत्वों कि कमी हो जाती है।

इस बीमारी को दूर करने के लिए हमें पौष्टिक आहार और अधिक मात्रा में लिक्विड का सेवन करना चाहिए ताकि हम डिहाइड्रेशन से बच सकें, इस बीमारी को दूर करने के कुछ घरेलू उपाय इस प्रकार है –

  1. आंवला के सेवन से – आंवले में एंटी-ऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जो ब्लैडर के इंफेक्शन को कम करता है और उसे मजबूत बनाने में मदद करता  है। इसके सेवन से  बार-बार पेशाब आना कम होता है और उसे कंट्रोल करने में मदद मिलती है। इसके अलावा आंवले को शहद और केले के साथ मिलाकर खाने से भी फायदा होता  है। इसके लिए एक आंवले को पीसकर उसमें शहद मिलाकर  इसे केले के साथ खाने से इस बीमारी  से काफी हद तक राहत मिलती है। 
  2. पानी ज्यादा पिएं (Drink plenty of water) – बार-बार  पेशाब आने कि समस्या  अगर किसी इंफेक्शन की वजह से है, तो ज्यादा पानी पीना चाहिए, क्योंकि अधिक मात्रा में पानी पीने से पेशाब के रास्ते बैक्टीरिया शरीर से बाहर निकल जाते हैं जिससे पेशाब में दर्द या जलन कि समस्या को दूर किया जा सकता है।
  3. अनार (Pomegranate) के सेवन से – अनार में काफी मात्रा में एंटी-ऑक्सिडेंट गुण होते हैं, जो बार बार पेशाब आने कि समस्या को दूर करने में मदद करते है।  इसके लिए  अनार के  जूस का सेवन करने से इस समस्या से छुटकारा पाया जा सकता है।  
  4. मेथी दाना (Fenugreek seed) के सेवन से – मेथी के बीज के सेवन से बार-बार  यूरिनेशन कि समस्या को दूर किया जा सकता है। इसके लिए मेथी दाने को अच्छे से  भून लें और फिर ठंडा होने पर इसे  पीस लें। आधा चम्मच मेथी पाउडर को पानी के साथ सेवन करना चाहिए इससे इस समस्या को दूर करने में मदद मिलती है। 
  5. दही (Curd)के सेवन से – दही के सेवन से बार-बार पेशाब आने की समस्या को दूर किया जा सकता है। दही में भरपूर मात्रा में एंटी- बैक्टीरिया (लैक्टोबैसिलस एसिडोफिलस) होते हैं, जो हार्मफुल बैक्टीरिया के इंफेक्शन को रोकने में मदद करते है । इसके लिए दिन में कम से कम दो बड़ी कटोरी दही का सेवन जरूर करना चाहिए। इसके अलावा दही में प्रोबायोटिक होते हैं जो मूत्र मार्ग में इन्फेक्शन  यानी यूटीआई की वजह से बार-बार पेशाब आने की समस्‍या को दूर करने में मदद करते हैं।
  6. क्रैनबेरी (Cranberry)के सेवन से – बार-बार पेशाब आने की  समस्या को दूर करने का अच्छा तरीका  क्रैनबेरी के सेवन करना है। क्रैनबेरी में एंटी-ऑक्सिडेंट होते है, जिसे  प्रोएंथोसायनिडिन कहा जाता है। ये हार्मफुल बैक्टीरिया के इन्फेक्शन को रोकने में मदद करता है, इसके सेवन से हार्मफुल बेक्टेरिया पेशाव से  बाहर निकल जाते हैं। 
  7. बेकिंग सोडा के सेवन से – इसके लिए एक गिलास पानी में आधा चम्‍मच बेकिंग सोडा डालकर पीने से बार-बार पेशाव आने की  समस्या को दूर किया जा सकता है,इसके लिए  दिन में एक बार पानी में बेकिंग सोडा मिलाकर पीने से फायदा होता है। 

तो हम कह सकते है कि इन घरेलू उपायों की मदद से हम Diuresis की समस्या से छुटकारा पा सकते है हमें इस बात का ध्यान रखना चाहिए कि हमें डिहाइड्रेशन कि प्रॉब्लम  न  हो तो हमें अधिक मात्रा में लिक्विड लेना चाहिए और संतुलित आहार का सेवन करना चाहिए, शराब और सिगरेट से दूर रहना चाहिए। 

Leave a Reply