You are currently viewing Coriander Essential Oil के हमारे स्वास्थ के लिए लाभ
Coriander Essential Oil के हमारे स्वास्थ के लिए लाभ

Coriander Essential Oil के हमारे स्वास्थ के लिए लाभ

हम अपनी रसोई में धनिया के पत्ते और बीज का इस्तेमाल करते ही हैं। धनिया के सुगंधित पत्ते व्यंजनों को स्वाद देते हैं और इसे और अधिक स्वादिष्ट बनाते हैं। ये कई व्यंजनों और सलाद को स्वाद प्रदान कर सकते हैं। इसके बीजों का उपयोग तड़का लगाने  के लिए करते हैं। धनिया आवश्यक तेल इस जड़ी बूटी के बीज से निकाला जाता है। 

यह एक अद्भुत तेल है जिसका सेवन किया जा सकता है और कई बिमारियों से राहत पाने के लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है। पाचन समस्याओं से राहत पाने, वजन कम करने और इसके कई अन्य लाभों के लिए आप इसका सेवन कर सकते हैं। ये हमारे आंतरिक अंगों के साथ-साथ हमारे शरीर के बाहरी हिस्सों में उचित कार्य को बढ़ावा देते हैं। 

धनिये के तेल के लाभ इसके Depurative, Fungicidal, Stimulant, Stomachic, Lipolytic, Analgesic, Aphrodisiac, Deodorant, Digestive, Carminative और Antispasmodic  गुणों के कारण हैं।

धनिया आवश्यक तेल का उपयोग

धनिया आवश्यक तेल एक Confectionary और Seasonings में एक स्वादिष्ट बनाने वाला एजेंट है, इसका इस्तेमाल –

  1. एक deodorantके रूप में
  2. माउथ फ्रेशनर के रूप में
  3. दर्द में बाम के रूप में 
  4. Aromatherapy में

धनिया  essential आयल के हमारे स्वास्थ के लिए लाभ इस प्रकार है –

  1. वजन घटाने में मदद करता है – अपना वजन कम करना चाहते हैं तो धनिया आवश्यक तेल का इस्तेमाल करना चाहिए। धनिया के तेल में lipolytic गुण होते हैं जो lipolysisको बढ़ावा देते हैं, जिससे कोलेस्ट्रॉल और वसा का hydrolysis होता है। lipolysisकी प्रक्रिया जितनी तेज होगी, उतनी ही जल्दी आप अपना वजन कम कर सकते हैं।
  2. Blood purification  में मदद करता है – धनिया का तेल अपने detoxifying गुणों के कारण Blood purification के रूप में कार्य करता है। यह रक्त से heavy metals, certain hormones, uric acid  और अन्य विदेशी toxins पदार्थों जैसे toxins पदार्थों को खत्म करने में मदद करता है।
  3. दर्द कम करता है – धनिया का तेल terpinolene और terpineol जैसे घटकों से भरपूर होता है, जो दर्द को कम करने के लिए analgesic के रूप में कार्य करता है। यह प्रभावित क्षेत्र को संवेदनशील बनाकर दर्द को कम करता है। तेल मांसपेशियों में दर्द, जोड़ों के दर्द, सिरदर्द और दांत दर्द के इलाज में मदद करता है। यह सर्जरी और चोटों से होने वाले दर्द को भी कम करता है।
  4. गैस को खत्म करता है – गैस से छाती, पेट और आंतों में तेज दर्द हो सकता है। धनिया के तेल में पेट के गुण होते हैं जो छाती और पाचन तंत्र से गैस को खत्म करने में मदद करते हैं। धनिया के तेल के नियमित सेवन से गैस बनने से रोकने में मदद मिलती है।
  5. ऐंठन का इलाज करता है – यदि अनुपचारित छोड़ दिया जाए तो Spasms and cramps न कष्टदायी होती है। धनिया के तेल में antispasmodic गुण होते हैं जो खांसी, आंतों और अंगों से संबंधित ऐंठन से राहत प्रदान करते हैं। यह ऐंठन को कम करने में मदद करता है और शरीर और दिमाग को आराम देता है।
  6. फंगल संक्रमण को रोकता है – धनिया एक प्रभावी fungicide है जो fungus के विकास को रोकता है और फंगल संक्रमण के इलाज में मदद करता है। यह पेचिश जैसी अन्य बीमारियों के इलाज में मदद करता है।
  7. Hormonal उत्पादन को उत्तेजित करता है – हार्मोन शरीर के आवश्यक कार्यों को पूरा करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। धनिया का तेल अंगों को गर्म करता है और  brain functions, digestion, nervous system and excretionके लिए आवश्यक हार्मोन को उत्तेजित करता है। धनिया के तेल का उपयोग मूड को ऊपर उठाने और depressionसे लड़ने में भी मदद करता है।

धनिये के तेल के SideEffects

धनिया के तेल का सही मात्रा में उपयोग करने से कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं को धनिये के तेल का प्रयोग नहीं करना चाहिए। संवेदनशील त्वचा वालों को इस आवश्यक तेल का उपयोग करने से पहले एक पैच test करना चाहिए।

तो हम कह सकते है कि धनिया एसेंसिअल आयल के इस्तेमाल से हमारा स्वास्थ अच्छा रहता है इसके सेवन से बजन कम करने में मदद मिलती है ये पाचन तंत्र के लिए अच्छा होता है और ये हमारे बाहरी स्वास्थ के अलावा हमारे आंतरिक स्वास्थ के लिए भी बहुत फायदेमंद है। 

Leave a Reply