You are currently viewing Blood Clots को ठीक करने के 6 घरेलु उपचार

Blood Clots को ठीक करने के 6 घरेलु उपचार

रक्त शरीर का सबसे  आवश्यक और महत्वपूर्ण ईंधन है क्योंकि यह कोशिकाओं तक पोषक तत्वों को ले जाने में मदद करता है और शरीर के विभिन्न अंगों को ऑक्सीजन देता है। हालांकि, आप कभी-कभी Blood Clots विकसित कर सकते हैं जो arteries को रोक सकते हैं। Blood Clots बस लाल रक्त कोशिकाओं का इकठ होते हैं जो चोट की जगह पर या किसी विशेष बीमारी के कारण बनते हैं। कई बार तो, blood clots होना अछि बात होती है क्योंकि यह शरीर में से ज़ादा मात्रा में बहते खून हो रोकने में मदद करते हैं, हालाँकि अगर यह clotting ज़ादा हो जाये तो यह DVT यानि Deep Vein Thrombosis की समस्या भी हो सकती है। 

अगर साधारण शब्दों में खा जाये, blood clot अपने शरीर की healthy vessel में blockage कर देता है जो की काफी सारी बिमारियों को निमंत्रण देता है|  इसमें Red blood cells एक जगह इकठा को जाते हैं और खून के बहाव को रोक देता है| Blood Clots ज़रूरी नहीं है की शरीर के किसी एक भाग में होता है बल्कि शरीर के किसी भी भाग में हो सकता है|

Blood Clot Symptoms

निचे दिए गए कुछ लक्षण हैं जो आपको संकेत देंगे की आपके शरीर का कौन सा भाग Blood Clot से पीड़ित है:

1. Heart: छाती में भारीपन और दर्द, पसीना, सांस की तकलीफ और शरीर के ऊपरी क्षेत्र में असुविधा होना बताता है की हो सकता है आपकी छाती में Blood Clot हो

2. Lungs:  सीने में तेज दर्द, दिल का दौड़ना, पसीना आना, खून खांसी और सांस की तकलीफ

3. Leg or arm: अत्यधिक दर्द, सूजन, प्रभावित क्षेत्र और ऐंठन में गर्म महसूस होना

4. Abdomen: पेट दर्द, दस्त और उल्टी

5. Brain: बोलने में कठिनाई, गंभीर सिरदर्द और चक्कर आना

Blood Clot Causes

Arteries में  High Blood Pressure, diabetes, heart diseases, cholesterol, internal injuries, obesity, liver diseases, smoking or anemia के कारण Blood Clots हो सकते हैं।

आगे Blood Clots के लिए कुछ घरेलू उपचार दिए गए हैं जिन्हें आप आजमा सकते हैं।

1. Turmeric: हल्दी में मौजूद Curcumin नामक compound Blood clots को रोकने का काम करता है। इसके औषधीय गुण Clots बनने के कारण होने वाले दर्द को ठीक करने में भी मदद कर सकते हैं। हल्दी एक anti-thrombotic या anti-coagulant एजेंट के रूप में कार्य करता है, जिसमें clot formation की प्रक्रिया में सहायता करने वाले कई factors का modulation शामिल होता है।

2. Garlic: लहसुन में sulphur compounds होते हैं जो blood clots को पिघलाने के लिए जाने जाते हैं। प्रभावी परिणाम के लिए सुबह एक कच्चे लहसुन की कली का सेवन करें। लहसुन arteries की चिकनी मांसपेशियों पर काम करता है और उन्हें आराम करने और पतला करने का कारण बनता है, जिससे रक्तचाप कम होता है। यह ब्लड थिनर के रूप में भी काम करता है।

3. Cayenne: Cayenne मिर्च से रक्त को पतला करने में मददगार होती है और इसमें Salicylates की उपस्थिति के कारण आपके शरीर पर प्रभाव डालते हैं। Cayenne में मौजूद Capsaicin, blood circulation को बढ़ावा देने में मदद करता है और blood clots को रोकने में मदद करता है।

4. Ginger: अदरक एक ऐसा पदार्थ है जो blood clot को रोक सकता है। इसमें Salicylate नामक एक प्राकृतिक एसिड होता है। Aspirin रक्त को पतला करता है। अदरक को बेकिंग, खाना पकाने और जूस में नियमित रूप से ताजा या सूखे अदरक का उपयोग कर सकते हैं।

5. Vitamin E: Vitamin E कुछ अलग तरीकों से blood clot को कम करता है। यह Vitamin E की मात्रा पर निर्भर करता है। The National Institutes of Health’s Office of Dietary Supplements का सुझाव है कि जो लोग रक्त को पतला करने वाले drug ले रहे हैं उन्हें Vitamin E की बड़ी खुराक लेने से बचना चाहिए।

6. Cinnamon: दालचीनी में Coumarin होता है, जो एक शक्तिशाली रक्त-पतला एजेंट है। Warfarin, जो की रक्त-पतला करने के लिए सबसे अधिक इस्तेमाल की जाती है। Cinnamon को पानी में उबाल कर पिया जा सकता है या फिर चाय में दाल कर चल पि जा सकती है


Leave a Reply