You are currently viewing संत कबीर जी

संत कबीर जी

तूँ तूँ करता तूँ भया, मुझ मैं रही न हूँ। वारी फेरी बलि गई, जित देखौं तित तूँ।

Leave a Reply