You are currently viewing चाणक्य

चाणक्य

फूलों की सुगंध केवल हवा की दिशा में फैलती है, लेकिन एक इंसना की अच्छाई चरों दिशाओं में फैलती है।

Leave a Reply